window.dataLayer = window.dataLayer || []; function gtag(){dataLayer.push(arguments);} gtag('js', new Date()); gtag('config', 'G-MV9Z2YX5QS'); अखरोट  एवं उसके फायदे -Walnut and its benefits. - ARSH BHARAT %

अखरोट  एवं उसके फायदे -Walnut and its benefits.

Walnut and its benefits.अखरोट  एवं उसके फायदे

  इस लेख में हम अखरोट  एवं उसके फायदे-Walnut and its benefits.बेनिफिट ऑफ वॉलनट के विषय में जानते हैं इसके क्या क्या फायदे और कैसे उपयोग किया जाता है?

अखरोट क्या होता है?-What is a walnut?

अखरोट जिसे अंग्रेजी में [Walnuts] कहा जाता है। यह एक प्रमुख ड्राई फ्रूट है जो कई स्वास्थ्यवर्धक गुणों से भरपूर होता है यह एक वृक्ष का फल है । यह हमारे देश में जम्मू कश्मीर उत्तराखंड हिमाचल प्रदेश एवं पूर्वोत्तर भारत वर्ष में अधिक मात्रा में पाए जाते हैं।  अखरोट कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है जैसे प्रोटीन विटामिन E ओमेगा-3 फैटी एसिडस,  फाइबर,  फॉलिक एसिडस कई अन्य मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट्स इन सभी तत्वों के कारण अखरोट स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा माना जाता है।

अखरोट में मौजूद न्यूट्रिएंट्स-Nutrients present in walnuts.

अखरोट में मौजूद न्यूट्रिएंट्स जैसे प्रोटीन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन, फॉस्फोरस, कॉपर, सेलेनियम, ओमेगा-3 फैटी एसिड आदि कई पोषक तत्व मौजूद रहते हैं. ओमेगा -3 फैटी एसिड को अल्फा-लिनोलेनिक एसिड भी कहा जाता है.

अखरोट के फायदे – Benefits of Walnut

1- हृदय के लिए स्वास्थ्यवर्धक

अखरोट में पाए जाने वाला अल्फा लिनोलेनिक एसिड होता है जो ओमेगा 3 फैटी एसिड का ही एक रूप है यह हमारे धमनियों में रक्त जमाव को रोकता है जो कि हृदय प्रणाली के लिए बहुत फायदेमंद होता है इसके अलावा जिन्हें ब्लड प्रेशर की समस्या होती है उन्हें भी अखरोट बहुत लाभदायक देता है क्योंकि इसमें पाली अनसैचुरेटेड फैटी एसिड शरीर में कोलेस्ट्रॉल को कम करके अच्छे कोलेस्ट्रॉल के निर्माण में मदद करता है जिससे कि हृदय संबंधी बीमारी ना हो सके

2-अखरोट हड्डियों के लिए रामबाण

अखरोट में अल्फा-लिनोलेनिक एसिड नामक एक जरूरी फैटी एसिड होता है. यह एसिड और इसके यौगिक मजबूत और हेल्दी हड्डियों को बनाए रखने में मदद करता है. अखरोट में मौजूद ओमेगा-3 फैटी सूजन को कम करने में भी असरदार है, ऐसे में अखरोट हड्डियों के लिए रामबाण है.

3-गर्भावस्था में अखरोट के फायदे

अखरोट के अंदर कॉपर, विटामिन बी-कॉम्पलेक्स और राईबोफ्लोविन जैसे कई तत्व मौजूद होते हैं. जिससे आपके बच्चे के विकास में काफी फायदा होता है. ध्यान रहें कि इस समय आप कुछ भी अपनी डाइट में शामिल करें तो एक बार डॉक्टर से जरुर बात करें. अखरोट के अंदर विटामिन-ई मौजूद रहता है जो आपकी बॉडी में सेल्स के विकास करने में मदद करते हैं.अखरोट के अंदर कॉपर विटामिन बी कंपलेक्स और राइबोफ्लेविन जैसे कई तत्व मौजूद होते हैं जो गर्भावस्था में पल रहे शिशु के विकास में मददगार साबित होते हैं। अखरोट में विटामिन E  मौजूद रहता है जो   गर्भावस्था में बॉडी के अंदर सेल्स के विकास में मदद करते हैं।इस प्रकार गर्भावस्था के लिए अखरोट के फायदे अनेक है।

 4-इम्यून सिस्टम को मजबूत करने के लिए अखरोट

प्रतिरक्षा प्रणाली (इम्यून सिस्टम )को मजबूत बनाने के लिए एवं कई बीमारियों से शरीर को सुरक्षित रखने में अखरोट के कई लाभ हमें मिलते हैं,इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में अखरोट के गुण सहायक साबित हो सकते हैं, अखरोट में पाए जाने वाला प्रोटीन में इम्यूनोमाड्यूलेटरी प्रभाव पाए जाते हैं जो हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत करते हैं

5डायबिटीज में अखरोट के फायदे

अखरोट में फाइबर काफी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो हमारे शरीर में शुगर के बढ़ने से रोकता है भीगे हुए अखरोट खाने से ब्लड शुगर का लेवल हमेशा ही कंट्रोल में रहता है अनेक वैज्ञानिक शोध से  यह सिद्ध हो चुका है की अखरोट खाने से हमारे शरीर में डायबिटीज का खतरा काफी कम हो जाता है। 

6-तनाव  और अनिद्रा  से राहत पाने के लिए

  • मेलेटोनिन उत्पादन को बढ़ावा देता है: अखरोट में मेलेटोनिन नामक एक हार्मोन होता है, जो नींद की गुणवत्ता और नींद की अवधि को नियंत्रित करता है। मेलेटोनिन तनाव को कम करने और आरामदायक नींद प्राप्त करने में मदद कर सकता है।
  •  अखरोट में मेलेटोनिन  नामक हार्मोन होता है जो अच्छी नींद की गुणवत्ता और अवधि को नियंत्रित करता है मेलेटोनिन तनाव को कम करने और आरामदायक नींद प्राप्त करने में हमारी मदद करता है। 
  • अखरोट में मैथाइन नामक एक अमीनो एसिड होता है जो शरीर में गैबा एमिनोब्यूटीरिक एसिड (GABA )नामक एक तत्व के उत्पादन में मदद करता है (GABA ) तनाव को कम करने और रिलैक्सेशन प्राप्त करने में हमारी मदद कर सकता है।
  • अखरोट में ओमेगा-3 फैटी एसिड और आयरन मौजूद होता है जो स्वस्थ नींद के लिए महत्वपूर्ण है ओमेगा 3 फैटी एसिड न्यूरोट्रांसमीटर्स के संतुलन को सुधार करके नींद और मूड को प्रभाव डालते हैं आयरन भी रक्त में हिमोग्लोबिन के उत्पादन में मदद करते हैं जो नींद के लिए आवश्यक है । 

7-कैंसर की रोकथाम में अखरोट के फायदे

अखरोट में वाई टोकॉफेरिल होता है( विटामिन E का एक रूप )जो कैंसर से सुरक्षा प्रदान करता है इसके   रिच प्लांट पॉलिफिनॉल्स कैंसर के खतरे को कम करने में मदद करता है ओमेगा 3 सूजन और ऑक्सीडेटिव तनाव के खिलाफ मजबूती से काम करते हैं जो कैंसर के लिए दो महत्वपूर्ण रिस्क होते हैं।

8-बुढ़ापे को दूर भगाने के लिए (एंटी एजिंग)के  लिए अखरोट के फायदे

अखरोट में प्राकृतिक तत्व में मौजूद विटामिंस मिनरल्स और वसा होती है जो त्वचा के लिए  उपयोगी होते हैं । अखरोट में विटामिन ई और ओमेगा 3 फैटी एसिड होते हैं जो मिलकर हमारी त्वचा को कोमल बनाते हैं और सुंदरता में बढ़ोतरी करते हैं अखरोट में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स हमारे त्वचा के फ्री रेडिकल्स के असर को खत्म करके एजिंग की प्रक्रिया को धीमा करने में  मदद करते हैं

अखरोट कैसे खाना चाहिए-How to eat walnuts?

  • अन्य   ड्राई फ्रूट की तरह अखरोट की गिरी को रात में भिगोकर के  सुबह खाना चाहिए
  • अखरोट गिरी अधिक मात्रा में नहीं खाना चाहिए  दो या तीन अखरोट गिरी का  ही प्रयोग करना चाहिए
  • अखरोट को हमेशा सुबह ही खाना चाहिए।सुबह खाली पेट अखरोट खाने के फायदे है ।
  • अखरोट को हम दूध के साथ भी रात्रि में ले सकते हैं
  • अखरोट को  फ्राईड कर स्नेक  के रूप में भी  प्रयोग कर सकते हैं ।
अखरोट व उसके वृक्ष के गुण दोष एवं उपयोग

आयुर्वेद के अनुसार अखरोट मधुर किंचित खट्टा, स्निग्ध ,शीतल वीर्यवर्धक, गरम ,रुचिदायक,कफ पित्तकारक  भारी प्रिय बलवर्धक और वातपित्त,क्षय,वात,हृदय रोग , रक्तवात, रुधिर दोष को दूर करने वाला है । 

विभिन्न रोगों ने अखरोट के होने वाले फायदे
विभिन्न रोगों ने अखरोट के होने वाले फायदे
  • कंठमाला -अखरोट के पत्तों का क्वाथ  पीने और उसी से गांठ को धोने से कंठमाला रोग मिट जाता है । 
  •  नासूर-अखरोट की गिरी को मोम और मीठे तेल के साथ गलाकर लेप करने से नासूर नष्ट हो जाता है।
  •  सूजन -अखरोट की खली को पानी के साथ पीसकर गर्म करके सूजन पर लेपकर   पट्टी बांधकर के तपाने से सूजन उतर जाती है ।
  •  कृमि रोग-इस वृक्ष की छाल का क्वाथ  पिलाने से आंतों के कीड़े मर जाते हैं ।
  •  मुंह का लकवा -तेल का मालिश करके और बादी मिटाने वाली औषधियों के क्वाथ का भाप लेने से इस रोग  में बड़ा लाभ होता है।
अखरोट के विषय में पूछे जाने वाले प्रश्न
  • उत्तर -अखरोट को सुबह के समय में लेना ज्यादा स्वास्थ्यवर्धक रहते हैं ।
  •   प्रश्न  -अखरोट किस मात्रा में ले सकते हैं?
  •  उत्तर- अखरोट हमेशा 3 या 4 की मात्रा में ही लेना ज्यादा फायदेमंद रहता है ।
  •  प्रश्न- क्या गर्भवती महिलाओं को अखरोट खाने चाहिए?
  •  उत्तर -गर्भवती महिलाओं को किसी फिजिशियन की सलाह पर अखरोट का सेवन करना चाहिए।
  •  प्रश्न -अखरोट को दूध के साथ लिया जा सकता है?
  •  उत्तर -अखरोट को दूध के साथ लेने में कोई भी हानिकारक तथ्य  नहीं है। 
  • प्रश्न -अखरोट की तासीर कैसी होती है?
  •  उत्तर-अखरोट गर्म तासीर के होते हैं इसीलिए गर्मी के मौसम में इसकी मात्रा कम रखनी चाहिए हमेशा भिगोकर के ही खाने चाहिए।

conclusion

इस प्रकार “अखरोट के फायदे”इस लेख में हमने अखरोट जिसे  सूखे मेवों का राजा भी कहा जाता है के होने वाले  बेनिफिट के बारे में चर्चा की आशा करता हूं कि आप इस लेख से लाभान्वित होंगे।

Leave a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.